22.12.2015 ►Acharya Shri Vishudha Sagar ji ►News

Posted: 22.12.2015

News in Hindi

जैनम् वचनम् सदा वंदे।।
कटरा जैन मंदिर सागर (म.प्र)
"आज के दोनों टाइम के प्रवचनांश "
📢विशुध्द वाणी📢
।।सुभाषित रत्नावली।।
👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻
1_हे जीव!!जगत का संचालन करने वाला परमात्मा होता नहीं है ज्ञानी परमात्मा तो वह होता है जो जगत के संचालन से रहित होता है।।
2_ज्ञानी सुन!! अज्ञानी कहता है कि वस्तु नष्ट हो रही है और ज्ञानी कहता है कि वस्तु उत्पन्न हो रही है क्योंकि ज्ञानी उत्पन्न हुए बिना नष्ट होता नहीं है और नष्ट हुए बिना उत्पन्न होता नही है।।
।।प्रवचनसार।।
👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻👇🏻
3-हे श्रमणों!! मूलाचार का श्रमण बने बिना समयसार का श्रमण बन नहीं सकता है इसलिए जो समयसार का श्रमण होगा वह नियम से मूलाचार का श्रमण होगा।।
4-अहो मुनिस्वरो!! जब तक "जिन" की अनुभूति नही लोगे तब तक जिनवर के लघुनंदन नही कहलाओगे।।
5_ अहो मुमुक्षुओं!! जगत का राग छोड़ना सरल है लेकिन देह का राग छोड़ना बहुत कठिन है।।
।।जो है सो है।।
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺
आचार्य भगवन 108 विशुद्ध सागर जी महराज जी संघ अभी गौराबाई जैन मंदिर कटरा सागर में विराजमान है कल सुबह मंगल प्रवचन और आहार चर्या यही होगी। 23//12//15 को प्रातः गुरुदेव ससंघ का भव्य मंगल प्रवेश बाहुवली कालोनी सागर में होगा और उसके बाद गुरुदेव के मंगल प्रवचन और आहार चर्या होगी और 24//12//15 शाम 4 बजे गुरुदेव ससंघ का मंगल विहार अतिशय क्षेत्र मंगलगिरी के लिए होगा और 25//12//15 को दोपहर 1 बजे से होगा गुरुदेव ससंघ के सानिध्य में भव्य वेदी शिलान्यास समारोह भारत की सबसे बड़ी भरत भगवन की प्रतिमा जो कि 57 फुट ऊँची (प्रमोद कुमार पीयूष कुमार ईशान,श्रुत वारदाना परिवार सागर) और 24.25फुट के बाहुवाली भगवान(कन्छेदी दाऊ भागचंद पप्पू भैया हिना परिवार सागार)और 11.25 फुट के नेमिनाथ भगवान (डॉ. अशोक राजुल सिंघई) की प्रतिमा उन वेदी पर विराजमान होंगे और कार्यक्रम का सीधा लाइव प्रसारण जिनवाणी चैनल पर दिखाया जायेगा।
🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾🌾
पई पाऊन चुल से भारत की समस्त जैन समाज का सादर सपरिवार आमन्त्रण है।
।।समस्त जैन समाज सागर।।
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
आचार्य भगवन 108 विशुध्द सागर जी महराज जी के परम सुयोग्य शिष्य मुनि श्रीं 108 प्रमेय सागर जी महराज ससंघ बेंगमगंज में विराजमान है और कल शाम को उनका विहार राहतगढ़ के लिए होगा।।
।।श्रमण संस्कृति सेवा समिति।।

Share this page on: