26.05.2016 ►TSS ►Terapanth Sangh Samvad News

Posted: 26.05.2016
Updated on: 09.01.2018

Update

👉 आचार्य तुलसी की कृति- "श्रावक संबोध" - श्रृंखला - 22
प्रस्तुति - 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻
💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕
कल से आगे -
📝 श्रावक संबोध-22 📝


नवीन छंद
~~~~~~

21. जो जैसा है वैसा देखें,
सम्यग्दर्शन की सहनाणी।
क्यों चले निषेधात्मक चिंतन?
हो सदा विधेयात्मक वाणी ।

श्रावकजीवन की सार्थकता,
नव तत्त्वों के अनुशीलन से।
खाते-पीते सोते-जगते,
आवाज उठे अंतर्मन से।।

अर्थ - जो तत्त्व जैसा है, उसे उसी रूप में देखना सम्यग्दर्शन की पहचान है। सम्यग्दर्शन की उपलब्धि होने के बाद क्रूर हिंसा आदि निषेधात्मक भावों के चिंतन को अवकाश नहीं रहता। चिंतन सही होने पर वाणी में अहिंसा आदि विधायक भावों की प्रमुखता रहती है।

श्रावक-जीवन को सार्थक बनाने के लिए नौ तत्त्वों के अनुशीलन की आवश्यकता है । इसलिए खाते-पीते और सोते-जागते श्रावक के अंतर्मन में एक ही आवाज़ गूँजती रहे।

भाष्य - निषेधात्मक चिंतन का अर्थ है अनिष्टकर चिंतन, बुरा चिंतन। सैद्धांतिक दृष्टि से अठारह पाप निषेधात्मक भाव हैं। इनमें हिंसा, झूठ, चोरी आदि दीखती बुराइयों का समावेश है तो क्रोध, मान, माया, लोभ आदि आंतरिक दुर्बलताएं भी संग्रहीत हैं। निषेधात्मक भावों से सर्वथा मुक्त होना कठिन है, पर इन भावों को कमजोर तो किया ही जा सकता है। जिसके ये भाव कमजोर हो जाते हैं, उसकी वाणी विधेयात्मक बन जाती है। वाणी विधेयात्मक तभी बनती है, जब चिंतन विधायक हो। विधायक चिंतन वाला व्यक्ति निराशा को आशा में और दुःख को सुख में बदल सकता है।

सम्यग्दर्शन के साथ देशव्रत की आराधना करने वाला व्यक्ति श्रावक होता है। श्रावक की चर्या साधारण आदमी की चर्या जैसी नहीं हो सकती। चर्या को विशिष्ट बनाने के लिए तत्त्वज्ञान आवश्यक है। अतः इसके लिए व्यक्ति का अंतर्मन हर समय नौ तत्त्वों का चिंतन करता रहे व जब भी समय मिले, वह तात्त्विक अध्ययन में संलग्न रहे।
क्रमशः......कल

प्रस्तुति - 🌻 *तेरापंथ संघ संवाद* 🌻
💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕

Update

27 मई का संकल्प

छोटे-छोटे तप का नित्य वार ।
काट सकता है कर्मों की कार ।।

📝 धर्म संघ की तटस्थ एवं सटीक जानकारी आप तक पहुंचाए
🌻"तेरापंथ संघ संवाद"🌻

News in Hindi

👉 श्री नरेश सालेचा ने रेलवे मंत्रालय में advisor and mission director का पद भार सम्भाला

प्रस्तुति - 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

👉 अहमदाबाद - अणुव्रत महासमिति अध्यक्ष की अहमदाबाद यात्रा
प्रस्तुति - 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

👉 उज्जैन - तपोभूमि में दिगम्बर जैन मुनियों से भेंट वार्ता
प्रस्तुति - 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

👉 सद्भावना, नैतिकता व नशामुक्ति का संदेश देती "अहिंसा यात्रा" का आज का प्रवास *जोरहाट*
👉 पूज्य प्रवर *प्रेरणादायी उद्बोधन* प्रदान करते हुए..
👉 नव निर्वाचित विधायक श्री अशोक जी सिंघी ने आराध्य के दर्शन किये
दिनांक:- 26-05-2016

📝 धर्म संघ की तटस्थ एवं सटीक जानकारी आप तक पहुंचाए
🌻"तेरापंथ संघ संवाद"🌻