12.03.2017 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Posted: 12.03.2017
Updated on: 13.03.2017

Update

😊विद्यासागरमय चैतन्य होली😊 💜💛💚❤💖 #HoliSpecial 💜💙💚❤ सुना है कल होली आने वाली है,वैसे तो यह जीव अनादि से कर्मो की होली खेलता हुआ आया है और अपने जीवन को पाप कर्मों में पतित करके सदा ही अपना जीवन विषय,कषाय और भोगों में रंगकर मलीन किया है!! #acharyaVidyasagar

कभी सोचा जीवन को इन उलझनों से सुलझाने का?
नही न❗
फिर कब मन बनाओगे❓

सुना था कि कभी होलिका के पास ऐसी अग्निशामक जैकेट थी जिससे वह बच जाती थी लेकिन जैसे ही वह प्रहलाद को बैठाकर अग्नि में बैठी और स्वयं विसर्जित होगी!!

अब बात ये कि हमारा जीवन भी होलिका की तरह ही है जिसमे हम सब पूर्व संचित पुण्यकर्म के उदय में पापकर्म करके जीवन को पतित करते चले जा रहे है लेकिन जब वह पुण्य का उदय समाप्त हो जाता है तो अंत में हमारा जीवन भी कर्मो की अग्नि में विसर्जित हो जाता है!!

चलो आओ भले ही अब तक कैसा ही जीवन बीता हो लेकिन अब हम सम्यक होली खेलने का मन बनाते है इसमें हम रंग,पिचकारी और गुलाल सब प्रयोग करेंगे बस चीजों में फर्क होगा!! *इसमें रंग जिनेंद्र प्रभु की भक्तिमय होगा,और गुलाल दसधर्मो की होगी।और सबसे दुर्लभ पिचकारी आचार्य श्री विद्यासागर जी की देशना होगी जिससे अपने सभी स्नेहीजन के ऊपर उड़ेलकर स्वयं और आत्मीयजन को विद्यासागरमय करेंगे!!

आइये इस होली पर हम भी विद्यासागरमय हो...ले जिसका रंग ऐसा है कि एक बार चढ़ने पर भी निस्तेज नही होता,कभी फीका नही पड़ता!! हे गुरुदेव तुम्हारीं शरण प्राप्त करके हम संसार में ऐसे निखरे कि जिसका प्रकाश पुंज अनादि अनन्त काल तक जगमगाता रहें....

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

Update

आगे आगे अपनी अर्थी के मैं गाता चलूँ, सिद्ध नाम सत्य है अरिहंत नाम सत्य है #muniKshamasagar

पीछे पीछे दूर तक दिख रही जो भीड़ है,
पंछी शाख से उड़ा, खाली पड़ा नीर है,
शक्ति सारी देख ले, पर्याय ही अनित्य है,
सिद्ध नाम सत्य हैं अरिहंत नाम सत्य है।२

जिनको मेरे सुख दुखों से कुछ नहीं था वास्ता
उनके ही कांधों में मेरा कट रहा है रास्ता,
आँख जब मुंदी तो कोई शत्रु है न मित्र है,
सिद्ध नाम सत्य हैं अरिहंत नाम सत्य है।२।

डोरियों से में बंधा नहीं यह मेरा संस्कार था ।
एक कफ़न पर मेरा रह गया अधिकार था,
तुम उसे उतार ने जा रहे यह सत्य है,
सिद्ध नाम सत्य हैं अरिहंत नाम सत्य है।२।

आपके अनुराग को आज यह क्या हो गया,
मैं चिता पर चढ़ा महान कैसे हो गया,
सत्य देख हँस रहा की जल रहा असत्य है,
सिद्ध नाम सत्य हैं अरिहंत नाम सत्य है।२।

आपके ही वंश से भटका हुआ हूँ देवता,
आत्म तत्त्व छोड़ कर में जगत को देखता,
यह अनादि काल की भूल का ही करत्य है,
सिद्ध नाम सत्य हैं अरिहंत नाम सत्य है
आगे अपनी अर्थी के में गाता चलूँ
सिद्ध नाम सत्य है अरिहंत नाम सत्य है।

....मुनि श्री 108 क्षमासागर जी

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

News in Hindi

#HOLI आचार्य विद्यासागर जी प्रवचन करते हुए एक पुरानी पिक्चर.. पहले ऐसे tap-recorder से recording करते थे:)) #AcharyaVidyasagar

संयम की पिचकारी में दसलक्षण के रंग
रत्नत्रय की शरण में हो होली हुड़दंग!!

क्रोधादिक कषायों का दहन होये दिन रैन
देव शास्त्र गुरु रंग में रंगने से सुख चैन

जीवन के संताप जब हिरण्यकश्यप होय
ले धर्म शरण प्रह्लाद सम बाल न बांका होय

पिच्छी कमंडल साथ हो मन दीक्षादि विचार
भक्ति रंग में मन रमा जन्म जरा संहार

मुक्तिरमा के रंग में रँगने का त्यौहार
सप्त व्यसन को ले जला हो जाये उद्धार

रत्नत्रय से रंग हों संयम पड़े फुहार
कर्मों की होली जले तो ब्रजेश भव पार

-जैन सेठ जी ब्रजेश पाटन

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

राग द्वेष अरु मोह ये, होते कारण तीन #ShreyasnathBhagwan
तीन लोक में भ्रमित वह, दीं-हीन अघ लीन

निज क्या पर क्या स्व-पर क्या, भला बुरा बिन बोध
जिजीविषा ले खोजता, सुख ढोता तन बोझ

अनेकांत की कांति से, हटा तिमिर एकांत,
नितांत हर्षित कर दिया, क्लांत विश्व को शांत

नि:श्रेयस् सुख धाम हो, हे जिनवर! श्रेयांस
तव थुति अविरल मैं करूँ, जब लों घाट में श्वाँस ||

ओम् ह्रीं अर्हं श्री श्रेयांसनाथ जिनेंद्राय नमो नम: |

स्वयंभू स्तोत्र स्तुति आचार्य श्री विद्यासागर द्वारा रचित #AcharyaVidyasagar

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

Share this page on: