23.03.2017 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Posted: 23.03.2017
Updated on: 24.03.2017

Update

इंदौर नगरी के सरसेठ हुकुमचंद और उनका ब्रम्हचर्य प्रेम... #AcharyaShantisagar #आचार्यशांतिसागर:)

लेखक दिवाकरजी ने लिखा है कि सर सेठ हुकुमचंद जी के विषय में बताया कि आचार्य महराज ने उनके बारे ये शब्द कहे थे, "हमारी अस्सी वर्ष की उम्र हो गई, हिन्दुस्तान के जैन समाज में हुकुमचंद सरीखा वजनदार आदमी देखने में नहीं आया।

राज रजवाड़ों में हुकुमचंद सेठ के वचनों की मान्यता रही है। उनके निमित्त से जैनों का संकट बहुत बार टला है। उनको हमारा आशीर्वाद है, वैसे तो जिन भगवान की आज्ञा से चलने वाले सभी जीवों को हमारा आशीर्वाद है।'

हुकुमचंद के विषय में एक समय आचार्य महराज ने कहा था, "एक बार संघपति गेंदनमल और दाडिमचंद ने हमारे पास से जीवन भर के लिए ब्रम्हचर्य व्रत लिया, तब हुकुमचंद सेठ ने इसकी बहुत प्रसंशा की। उस समय आचार्यश्री ने हुकुमचंद सेठ से कहा 'तुमको भी ब्रम्हचर्य व्रत लेना चाहिए।'

हुकुमचंद ने तुरंत ब्रम्हचर्य व्रत लिया और कहा था, 'महराज! आगामी भव में भी ब्रम्हचर्य का पालन करूँ।' हुकुमचंद का ब्रम्हचर्य व्रत पर इतना प्रेम है।"

*🌿 स्वाध्याय चा.चक्रवर्ती ग्रंथ का 🌿*
🔹आजकी तिथी - चैत्र कृष्ण नवमी🔹
आचार्य भगवन एवं श्रीसंघ की समस्त जानकारीयो के लिये #पेज से अवश्य #जुडें
आचार्य भगवन के भक्त

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

Video

मुनिश्री प्रमाणसागर जी महाराज द्वारा मुनि श्री तरुणसागर जी के आपकी अदालत कार्यक्रम पर महत्त्वपूर्ण शंका समाधान -Muni Praman Sagar's apt response to debate on Jain Muni Tarun Sagar's appearance on Aap Ki Adalat Source India TV #AapKiAdalat #IndiaTV #MuniTarunsagar #MuniPramansagar #JainMuni

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

Exclusive today Special Update: #must_read आज से आचार्य श्री जंगल जंगल विहार करेंगे.. बीहड़ घना जंगल तथा आदिवासी इलाक़ा ओर वनवासी हो जाएँगे धन्य पाकर रज इस प्रकृति-प्रेमी की..:) #AcharyaVidyasagar

जंगल के मंगल का आँखों देखा हाल:जैसे ही घोषणा हुई आचार्यश्री कान्हा के घने जंगलों की ओर विहार कर रहे है मन की आँखों से गुरुभक्ति के कैमरों के साथ मैं राजेश जैन भिलाई आपको कान्हा के घने जंगलों में लिए चलता हूँ #acharyaVidyasagar

जैसा की हम देख पा रहे है इन जंगलो में अद्भुत उत्साह का संचार है। *प्रकृति पुरूष आचार्यश्री* के मंगल आगमन की युद्धस्तर पर तैयारी चल रही है। सबसे पहले चूहों के दल ने गुरुपथ में लगे कुटिल, कटीले, कांटो को कुतरना शुरू कर दिया इनका साथ देने के मैना परिवार अपनी चोंच से दूर फेकने में व्यस्त है_
_आप देख सकते गुरुपथ के दोनों पथ पर लगे शीशम के पेड़ों पर वानर सेना लताओं को बाँधने में जुटी है_
_वहीँ चीलों का दल हरे हरे केले के पत्ते दे रहे है मियां मिठ्ठुजी को अपनी पैनी नुकीली चोंच से वंदनवार बनाने में बिजी है।_
_मासूम सी गिलहरी अपने कुटुम्बी जनों संग रंग बिरंगी पंखुरी चुनने में व्यस्त है आखिर उसे ही तो भव्य मांगलिक रंगोली जो बनानी थी काश गुरुदेव उसकी रंगोली एक बार निहार तो लेते।_
_कोयल टीम मधुर मंगल गीत की रिहर्सल में व्यस्त है इनका साथ देने भंवरो का दल आस पास मंडरा रहा है भालुओं की टीम तालियों की थाप से संगीत दे रही है।_
_और जब बात चले गीत संगीत की और वह भी गुरुभक्ति की तो *गधा परिवार* भला कब मौन रह पाते गधेराज ने पंचम स्वर में जो तान छेड़ी तो पूरा जंगल हिल गया।_
_वृक्ष में लटके एक युवा बानर से न रहा गया ऊपर से सीधे गधेराज की पीठ पर छलांग मारी और लाल लाल आँखों से गुर्राते हुए कहा... कुछ तो मर्यादा रखो आज ही आचार्यश्री पधार रहे है वे तुम्हारी बेसुरी कर्कश तान सुन क्या सोचेंगे भान है तुम्हे।_
_डरे सहमे गधेराज की घिग्घी बंधी थी। लेकिन श्रीमती गधा देवी से रहा न गया बोल उठी *ओ.. ओ.. मिस्टर मंकी जस्ट चिल यू....यू नो..हम भी आचार्यश्री के अनन्य भक्त है कान खोल कर सुन लो महाकवि आचार्यश्री ने विश्व के सबसे बड़े महाकाव्य मूकमाटी में हमारा उल्लेख कर हमें जो सम्मान दिया हमारी पीढियां उनके उपकार को नही भूलेंगी*_
_ऐसा क्या लिखा आचार्यश्री ने बन्दर ने तमतमाते हुए पूछा_
_*सुनो मिस्टर मंकी कभी पढ़ने की आदत भी डाला करो मूकमाटी में एक स्थान पर लिखा है गदहा गद यानि पाप और ह यानि हरने वाला गदहा अर्थात पाप हरने वाला...डोंट अंडर एस्टीमेट मिस्टर मंकी*_
_*सारी बुआजी...गलती हो गई बंदर ने चरण छू क्षमा मांगी*_
_*तब तक बन्दर की मम्मी हाथ जोड़े आ गई कहने लगी छमा कर दे जीजी ये बुध्धु का बुध्धु है कितनी बार कहा पढ़ने जाया कर दिन भर मोबाइल और टी वी में घुसा रहता है नासपिटा कहि का*_
_इसी बीच कौओ कर्कश स्वर में सूचना दी गुरुदेव पधार रहे है।_
_जैसे जैसे आचार्यश्री बढ़ रहे है सभी को लग रहा है *हमारे वंशज सही कहते थे भगवान महावीर भी तो ऐसे ही दिखते थे सचमुच वैसे ही उनकी अनुकृति। उनके ही लघुनन्दन*_
_सभी लपक पड़े गुरू चरणों में गजराज दल ने प्रासुक जल से चरनाभिषेक किया कोयल एंड पार्टी ने समधुर भक्ति गीत प्रस्तुत किये और जुगनुओं की विशाल सेना ने आरती उतारी अपने आराध्य की_
_इसी बीच सभी की साँसे थमी की थमी रह गई सभी देख रहे है झाड़ियो के झुरमुट से सिंहराज सपरिवार आ रहे है सिंह शावक परिवार गुरुचरणों में लोट गया_
_सभी ने देखा ने देखा *स्मित मुस्कान सहित वरदानी अभयदानी मुद्रा में आचार्यश्री ने आशीर्वाद देते हुए उद्बोधन दिया।*_
_*हे वनराज जैसे देशकाल परिस्थितिवश आज तुम वन के स्थान पर भवन में रह रहे हो, ऐसे ही वन में निर्द्वन्द विचरण करने वाले मुनिराजों ने नगर में रहना स्वीकार कर लिया पर हमारा यह स्वभाव नही है। हमे अपना यथाजात, एकाकी विचरण करने का स्वभाव नही भूलना चाहिये*_
_*उन क्षणों में आचार्यश्री की निस्पर्हता सुझाव की ओर रूचि देखते बनती थी*_
_आचार्यश्री के चरण आगे की ओर बढ़ने को थे इसी बीच कामधेनुओ का झुण्ड आकर गवासन की मुद्रा में बैठ गया और नमोस्तु निवेदित कर रहा है गुरुचरणों में । एक बछिया ने बड़ी विनय पूर्वक आचार्यश्री से निवेदन किया *हे आचार्यश्री आपके आशीष से बीना बारा जो शांतिधारा दुग्ध योजना आरम्भ हुई है वैसी ही छतीसगढ़ में भी हम लोगो की प्राणों की रक्षा हेतु शांतिधारा दुग्ध योजना पर आशीष देवे।*_
_गुरुदेव का वरदानी हाथ पुनः उठा और आशीष बरसने लगा इन निरीह मूक पशुओं पर के माथो पर अब गुरुचरण बढ़ चले आगामी दिशा की ओर।_
_सभी ने गगनभेदी नारा लगाया_
*_नील गगन में एक सितारा_*
*_आचार्यश्री को नमन हमारा_*
_जाहिर है इन _*जंगलियों* के गगनभेदी जयघोष से मेरी नींद भला कैसे पूरी हो पाती सो नींद टूट गई।_

शब्दचित्र एवम भावाभिव्यक्ति
राजेश जैन
संयोजक
श्री दि जैनाचार्य विद्या सागर पाठशाला भिलाई

इन शब्दचित्र में सिंह श्रावको को आचार्यश्री का उद्बोधन उनका वास्तविक उद्बोधन है इसकी वास्तविक चित्र और जानकारी हेतु प्रतीक्षा करे अगली पोस्ट में
🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

Video

#watch_&_share मुनिश्री प्रमाणसागर जी महाराज द्वारा मुनि श्री तरुणसागर जी के आपकी अदालत कार्यक्रम पर महत्त्वपूर्ण शंका समाधान #muniTarunsagar #muniPramansagar #AapkiAdalat

- - - - - - - www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa

Share this page on: