04.04.2017 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Posted: 04.04.2017
Updated on: 05.04.2017

Update

घर में अगर बेटा जन्म ले तो समझो अभिषेक करने वाला आ गया। और अगर बेटी जन्म ले तो समझो चौका लगाने वाली आ गयी -मुनि श्री सुधा सागर जी

#जिज्ञासा_समाधान -अगर कोई व्यक्ति नित्य पूजन अभिषेक करता है, तथा जिस घर में पूजन के धोती-दुपट्टे सूखने के लिए डले रहते हैं, उस घर में कोई आधि- व्याधि, भूत-व्यंतर आदि कभी कोई परेशान कर ही नहीं सकते।

छोटे बच्चों को अपना ध्यान खेलकूंद से हटाकर पढ़ाई में लगाना चाहिए। सदा अपने से अच्छे की संगति करना चाहिए और स्वयं को उसके अनुसार ढालने का प्रयास करना चाहिए।* अपने आचार-विचार अच्छे रखते हुए आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए। सफलता आपको अवश्य मिलेगी।

जिनके छोटे बच्चे होते हैं, उनका कर्तव्य है, वो अपने बच्चों का हर समय ध्यान रखें। 8 वर्ष तक के बच्चे के अच्छे व बुरे कार्यों का फल उसके माता- पिता को भी मिलता है।* अतः प्रथम कर्तव्य आपका अपने बच्चे के प्रति है, बाद में धर्म कार्य करना चाहिए।

जो बच्चा- बच्ची बड़े होने के बाद बिगड़ रहे हैं, इसमें 90% माता- पिता का दोष है।* माता पिता जवान बच्चों को को-एजुकेशन में पड़ने भेजते हैं, तो वह आग और घी का ही सहयोग करा रहे हैं। जब एक शादी शुदा विपरीत लिंगी से प्रभावित हो जाता है, तो बच्चे तो अभी जवान हैं, वो कैसे इस आकर्षण से बच पाएंगे। अतः को-एजुकेशन सिस्टम को खत्म करना चाहिए।

कानून और जैन धर्म एक ही है। मूल कानून जो बनाया गया उसमे 12 जैन लोग थे। अम्बेडकर भी जैन धर्म के समर्थक थे। भगवान ऋषभदेव के द्वारा बहुत अच्छी व्यवस्था दी गई है। हिन्दू लॉ के अनुसार मंदिरों में पूजन पद्दति भक्तों के अनुसार होती है, जबकि अल्पसंख्यक लॉ में मंदिरों की आम्नाय के अनुसार पूजन का प्रावधान है। इसी कारण धर्म दृष्टि से जैनों को अल्पसंख्यक होना पड़ा। *इस बात को समझने के लिए डॉ रमेशचन्द जी द्वारा लिखित जैन धर्म की मौलिक विशेषताएं किताब अवश्य पड़नी चाहिए।

मंदिर से घर की दिवार से दिवार मिली है, तो इससे परिवार में कुछ न कुछ अहित जरूर होता है। मंदिर किसी का अहित नहीं करता, बल्कि हम मंदिर की शुद्धि का ध्यान नहीं रख पाते इस कारण हमारा अहित स्वयमेव हो जाता है।

www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

ग़ज़ब.. ऐसा अनूठा मोका.. जब जिनवानी पुत्र.. सांसारिक पिता को देगा जिन दीक्षा!!! 😍 9 अप्रेल महावीर जयन्ती के दिन:) #MahavirJayanti

#आचार्य_श्री_सुनीलसागर जी महाराज (शिष्य तपस्वी सम्राट आचार्य सन्मतीसागर जी) के गृहस्थ जीवन के पिताजी भागचन्द जी जैन की दीक्षा आचार्य श्री सुनील सागर जी महाराज के करकमलो के द्वारा 9 अप्रेल महावीर जयन्ती के दिन प्रतापगढ़ राजस्थान में होने जा रही हे । आचार्य श्री सुनील सागर जी महाराज उनके ग्रहस्थ जीवन के पिताजी को दीक्षा प्रदान करेंगे । #AcharyaSunilsagar #AcharyaSanmatisagar Info by mr. Vabhaiw Jain Samyak.

www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

एक बुढ़िया की लुटिया गज़ब कर गयी,
जब महलों की लुटिया उलट उलट गयी,
तब बुढ़िया की लुटिया गज़ब कर गयी...

Yesterday was the 1037th anniversary of sanctification of bhagwan bahubali of shravanbelgola. गोमटेश भगवान बाहुबली श्रवणबेलगोला की प्रतिस्ठा को 1037 वर्ष हो गए हैं:)) #BahubaliBhagwan #Shravanbelgola #Gomesthwar

www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

News in Hindi

Temperature is between 40-45 degree celsius. But acharya guruvar vidhyasagarji is walking 15-20 kms daily. No pain felt by guruvar but we can feel the same by seeing legs of guruvar. Certainly lord mahavir of this century. Jainam jayatu shashnam.. Koti koti namostu gurudev

आचार्य गुरूवर श्री विद्यासागर जी महाराज इस भीषण गर्मी में, 40-42° के तापमान में भी प्रतिदिन 15-20 किमी चल रहे हैं। आचार्य श्री की कठिन तपश्या देखो पैरो में कितने बड़े बड़े छाले पड़े है फिर भी निरंतर विहार चालू है ।।।
ऐसी कठिन साधना शायद ही किसी ने देखि होगी ।।। और उनके चेहरे से मुस्कान कभी जाती नहीं है ।।। ऐसा लगता है जैसे उन्होंने अपने साधना से अपने शरीर और सारी इंद्रियों को बस में कर लिया हो ।।।।
बुंदेलखंड के चलते फिरते भगवान् आचार्य श्री विद्या सागर जी महाराज की जय जय जय ।।।

www.jinvaani.org @ Jainism' e-Storehouse.

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhaDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

Share this page on: