08.07.2017 ►Acharya Shri VidyaSagar Ji Maharaj ke bhakt ►News

Posted: 08.07.2017
Updated on: 09.07.2017

Update

UPDATE -finally 😊 सारे पूर्वानुमान ध्वस्त कर के मेरे गुरुवर #आचार्यश्री पहुचेगे कल #रामटेक.. #Ramtek #शांतिनाथ #shareMaximum

#आचार्यविद्यासागर जी महाराज ससंघ का कल सुबह गुरु पूर्णिमा के पावन दिन होगा रामटेक में मंगल प्रवेश... एक तरफ की प्रतिभास्थली की आँखे अभी तक नम हैं... और दूसरी तरफ की प्रतिभास्थली ख़ुशी से झूम रही है... 2 जुलाई को आचार्य भगवन ससंघ का विहार डोंगरगढ़ से हुआ था... और मात्र 7 दिन में आचार्य भगवन ससंघ ने 185 किमी की दूरी तय की... ऐसा ही कुछ पिछले वर्ष भी हुआ था...

नमोस्तु भगवन -संकेत जैन ढाना

Admin Note* रामटेक में प्रवेश का बदलाव सम्भव हैं की कल के बजाए परसों प्रवेश हो!!

••••••••• www.jinvaani.org •••••••••
••••••• Jainism' e-Storehouse •••••••

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

News in Hindi

Yesterday pic... चरण नहीं आचरण छुए - दिगंबर सरोवर के राजहंस आचार्य श्री विद्यासागर जी 🙂🙂

तुम विद्या के सागर, हो आगम के आगर!
तुम्ही से सुशोभित, हो जीवन का सागर!!

जब तुमको देखा समझ ये आया, महावीर स्वामी को साक्षात् पाया!
तेरी शांत मुद्रा में मैं खो गया हूँ, अनुपम छवि का दीवाना हो गया हूँ!1!

जिनवाणी को अंतस में बसाया, अंतर चक्षु मैं खुलते पाया!
तेरे मुख से जिनवाणी का मर्म, नयन पथगामी मैं बनू तुझ सम!2!

अध्यात्म सरोवर के राजहंस, निहारा तुझे जैसे आत्मा में बसंत,
तुझे देख इतना जान गया हूँ, मोक्ष मार्ग अब पहचान गया हूँ!3!

जब से देखा इस वीतराग दशा को, मान रहा हूँ धन्य स्वयं को!
कर्म बंधन कब को मैं भी तोडू, संसार सागर से नाता तोडू!4!

तुम विद्या के सागर, हो आगम के आगर!
तुम्ही से सुशोभित, हो जीवन का सागर!!

Composition written by - Nipun Jain

(I must call it 'भावो की अभिव्यक्ति - the expression of inner feelings' - Nipun)

••••••••• www.jinvaani.org •••••••••
••••••• Jainism' e-Storehouse •••••••

#Jainism #Jain #Digambara #Nirgrantha #Tirthankara #Adinatha #LordMahavira #MahavirBhagwan #RishabhDev #Ahinsa #AcharyaVidyasagar

Share this page on: