10.07.2017 ►Acharya Shri Gyan Sagar Ji Maharaj Ke Bhakt ►News

Posted: 10.07.2017
Updated on: 11.07.2017

Update

महाराष्ट्र में नंदुरबार से 30 किमी दूर शहादा गाँव से लगभग 6 किमी उत्तर की और प्रसिद्ध गोमाई नदी किनारे चट्टानों के बीच व चट्टानों के लेबल से 10 मीटर नीचे उकेरी हुई पंच पांडव / पाण्डवलेनि नाम से प्रसिद्ध प्राचीन जैन प्रतिमाएं.....विश्व जैन संगठन fb.com/AntiquityOfJainism

विशेष बात यह है कि नदी में पानी आने पर ये चट्टान और प्रतिमाएं पानी में डूब जाती है और पानी उतरने पर दिखाई देती है!

https://en.m.wikipedia.org/wiki/Pandavleni

News in Hindi

आज दिनाक 10 जुलाई, दिन सोमवार, श्रावण कृष्ण प्रतिपदा को *वीरशासन जयंती महापर्व* के पावन अवसर पर आपको बधाई एवं शुभकामनायें....विश्व जैन संगठन

श्रावण कृष्ण प्रतिपदा की शुभ तिथि को ही चौबीसवें तीर्थंकर वर्तमान शासननायक देवाधिदेव 1008 श्री वर्धमान महावीर स्वामी की सर्वप्रथम दिव्यध्वनि खिरी थी। तभी से भगवान का शासन काल प्रारम्भ हुआ।।

"जैनम जयतु शासनम"

Share this page on: