04.08.2017 ►Acharya Shri Vishudha Sagar ji ►News

Posted: 05.08.2017

News in Hindi

🌀🌀🌀 *विशुध्द देशना* 🌀🌀🌀
📚📚 *श्रावक धर्म-देशना* 📚📚
*04//08//17*
भो ज्ञानी!!
तीर्थंकर के शासनकाल मे भी गरीब लोग होते थे | किसी नगरसेठ के मकान के नीचे कोई भीख मांगने आता है, कि नही? इसका तात्पर्य है, कि जिसका पुण्य होता है, उसके घर में नौकर रहता है *| एक ही घर मे मालिक नौकर दोनो ही रहते है, लेकिन एक की संज्ञा स्वामी और एक की संज्ञा नौकर | ये भेद कैसा? मकान तो एक है, केवल अनुभूति मे अन्तर है | इसलिए जैसा भाग्य होता है, वैसा ही वो होता है |* 🙏🙏🙏🙏 *विशेष*🙏🙏🙏🙏
*श्रमणाचार्य 108 विशुध्दसागर जी महराज संसघ के मंगल सानिध्य में दसलक्षण महापर्व महोत्सव के अवसर पर भव्य आयोजन आध्यात्मिक श्रावक साधना संस्कार शिविर दिनांक 26 अगस्त से 05 सितम्बर तक वास्केटवाल काम्प्लेक्स रेसकोर्स रोड़, इन्दौर(म.प्र)*
👏 *फार्म डाउनलोड करे* 👏
*www.Vishudhasagarji.com*
🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈🏳‍🌈
*नमोस्तु शासन सेवा समिति*
*बरायठा सागर (म.प्र)*
👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇
*मेरी आस्था के केन्द्र मेरे गुरूवर*
*मेरे भगवन विशुध्दसागर जी*
🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏
*गुरूभक्त -नमोस्तु शासन सेवा समिति

www.vishudhasagarji.com

Share this page on: