JAIN STAR News

Posted: 09.08.2017

Jain Star


News in Hindi

जोधपुर:वैरागी वरुण की भागवती दीक्षा 30 सितंबर को
56  जोधपुर:वैरागी वरुण की भागवती दीक्षा 30 सितंबर को  Jain Star News Network | August 0 8,2017  जोधपुर। पारंपरिक परिधान पहने सारण- सि...

जोधपुर:वैरागी वरुण की भागवती दीक्षा 30 सितंबर को
Jain Star News Network | August 0 8,2017
जोधपुर। पारंपरिक परिधान पहने सारण- सिरियारी का यह युवक अगले महीने की 30 तारीख को साज-सज्जा छोड़ जैन साधु का वेश धारण कर विधिवत संन्यासी जीवन में प्रवेश कर जाएगा।जोधपुर के सारण -सिरियारी, निवासी वैरागी वरुण जैन श्रीमान वच्छराज जी पीतलिया व श्रीमती संतोषी देवी के सुपुत्र हैं। वैरागी वरुण 30 सितंबर को जैन साधु की दीक्षा ग्रहण करने जा रहा है।
लोकमान्य सन्त शेरे राजस्थान वरिष्ठ प्रवर्तक पूज्य गुरुदेव रूपमुनिजी म सा रजत, उपप्रवर्तक सलाहकार मरुधरा भूषण पूज्य गुरुदेव श्री सुकनमुनि जी म. सा. तपस्वी रत्न ज्योतिषसम्राट श्री अमृतमुनिजी म. सा. युवप्रज्ञ डॉ अमरेश मुनिजी म. सा. आदि ठाणा 14 के पावन सान्निध्य में आयोजित गुरुद्वय जन्म जयंती महोत्सव के अवसर पर आयोजित धर्म सभा में पूज्य गुरुदेव श्री रूपमुनिजी म. सा. ने मुमुक्षु वरुण जैन की दीक्षा की घोषणा की। वैरागी वरुण जैन की दीक्षा जोधपुर के महावीर काम्प्लेक्स प्रांगण में आषाढ़ शुक्ला दशमी, दिनांक 30 सितम्बर, 2017 (विजय दशमी) के दिन आयोजित होने वाले दीक्षा महोत्सव के कार्यक्रमों के तहत सम्पन्न होने जा रही है। इस मौके पर मुमुक्षु वरुण जैन ने हर्षाभिव्यक्त करते हुए सभी गुरुभक्तों को दीक्षा महोत्सव में पधारने की भाव भरी विनंती की, इस पावन अवसर पर हिंदुस्तान के कई क्षेत्रों के गुरुभक्त उपस्थित रहे ।
वरुण जैन का परिचय
वैरागी वरुण जैन जोधपुर क्षेत्र के सारण- सिरियारी निवासी श्री वच्छराजजी पीतलिया व श्रीमती संतोषी देवी के सुपुत्र हैं। वैरागी वरुण पिछले 7 वर्षों से गुरु-भगवंतो के सान्निध्य में रहकर जैन धर्म के गूढ़ सिद्धान्त रहस्य व जगत की नश्वरता को जानकर वैराग्य के पथ पर बढ़े हैं। वरुण जैन बी ए,एम ए है और भारतीय दर्शनों की तत्व मीमांसा का समीक्षात्मक अध्यनन विषय पर पीएचडी कर रहे हैं। जैन धर्म की शिक्षा में जैन सिद्धान्त आचार्य तक परीक्षा में उत्तीर्णता प्राप्त की है। वरुण जैन की योग्यता व संयम पथ पर चलने की दृढ़ निश्चयता को देखते हुए पूज्य गुरुदेव श्री रूपमुनिजी म सा ने दिनांक 6 अगस्त 2017 को गुरुद्वय जन्म जयंती महोत्सव के पावन अवसर पर भरी सभा में मुमुक्षु वरुण जैन की दीक्षा की घोषणा की है

Share this page on:

Source/Info

JAIN STAR