27.08.2017 ►Acharya Shri Gyan Sagar Ji Maharaj Ke Bhakt ►News

Posted: 28.08.2017

News in Hindi

आज दिनांक 27 अगस्त को बहलना अतिशय क्षेत्र में जैन मिलन द्वारा ARTEMIS HOSPITAL, गुड़गांव के सहयोग से *त्रिलोकसंत पूज्य आचार्य श्री ज्ञान सागर जी मुनिराज* के मंगल आशीर्वाद सेे *विशाल निशुल्क मेडिकल जांच शिविर* का आयोजन किया गया।
मेडिकल कैम्प में अनुभवी डॉक्टर की टीम द्वारा निशुल्क परामर्श दिया गया।कैम्प में *ब्लड प्रेशर,शुगर,ECG,कार्डियोग्राफी, मेमोग्राफी* आदि जांच हुई और मरीजो ने इसका लाभ लिया।

Video

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी द्वारा आज दिनांक 27 अगस्त को "मन की बात" कार्यक्रम के माध्यम से मिच्छामी दुक्क्दम से अपनी बात आरम्भ करते हुए जैन संवत्सरी, पर्युषण व क्षमावाणी पर्व के विषय में जानकारी दी..... VISHWA JAIN SANGATHAN

श्री नरेंद्र मोदी जी ने कहा कि "आज मैं त्योहारों की बात कर रहा हूँ तो सबसे पहले मैं आप सबको मिच्छामि दुक्कड़म कहना चाहूँगा, जैन समाज में कल संवत्सरी का पर्व मनाया गया!

जैन समाज में भाद्र मास में पर्युषण पर्व मनाया जाता है, पर्युषण पर्व के आख़िरी दिन संवत्सरी का दिन होता है, ये सचमुच में अपने आप में एक अद्भुत परम्परा है!

संवत्सरी का पर्व क्षमा, अहिंसा और मैत्री का प्रतीक है, इसे एक प्रकार से क्षमा-वाणी पर्व भी कहा जाता है और इस दिन एक दूसरे को मिच्छामि दुक्कड़म कहने की परंपरा है!

वैसे भी हमारे शास्त्रों में ‘क्षमा वीरस्य भूषणम्’ यानि क्षमा वीरों का भूषण है, क्षमा करने वाला वीर होता है!

ये चर्चा तो हम सुनते ही आए हैं और महात्मा गाँधी तो हमेशा कहते थे - क्षमा करना तो ताकतवर व्यक्ति की विशेषता होती है!

शेक्सपियर ने अपने नाटक ‘The Merchant of Venice’ में क्षमा भाव के महत्त्व को बताते हुए लिखा था - क्षमा करने वाला और जिसे क्षमा किया गया, दोनों को भगवान का आशीर्वाद प्राप्त होता है!

कृप्य निम्न लिंक पर क्लिक कर प्रधानमन्त्री जी को सुने....

Share this page on: