30.08.2017 ►Jeevan Vigyan Academy ►Development Festival in Hansi

Posted: 30.08.2017

http://www.herenow4u.net/fileadmin/v3media/pics/organisations/Jeevan_Vigyan_Academy/Jeevan_Vigyan_Logo__New_.jpg

Jeevan Vigyan Academy


News in Hindi

हांसी में विकास महोत्सव
हांसी, 30 अगस्त, 2017।
आचार्यश्री महाप्रज्ञजी के पट्टोत्सव को विकास महोत्सव के रूप में प्रतिवर्ष मनाया जाने वाला यह उत्सव एक आध्यात्मिक निरीक्षण का पर्व है। हम जो उत्सव मनाते हैं। वह अच्छी उपस्थिति व निष्पत्ति के साथ सानन्द समपन्न होते हैं। यह सन्तोषप्रद होता है, परन्तु यह काफी नहीं है। ‘विकास महोत्सव’ आत्मचिंतन व आत्मनिरीक्षण का समय होता है। जब हम अपने आपका निरीक्षण व आत्मलोचन करें कि हमने मान, माया, लोभ, लालच, भय, क्रोध पर कितनी विजय पाई है। हमारा आवेष आवेग की स्थिति क्या है? हम मोक्ष मार्ग की ओर कितने प्रषस्त हुए हैं। आचार्यश्री महाश्रमणजी के आज्ञानुवर्ती ‘षासनश्री’ प्रेक्षाप्राध्यापक मुनि किषनलालजी ने विकास महोत्सव के सन्दर्भ में अपने उद्गार व्यक्त करते हुए कहा कि हम अपने अन्दर झांके कि हमारा अहंकार, लोभ, भय, हिंसा की भावना कितनी कम हुई है और हमारे भीतर सद्भावना, नैतिकता, नषामुक्ति का कितना विकास हुआ तभी ‘विकास महोत्सव’ मनाना सार्थक होगा। इस अवसर पर सभा अध्यक्ष दर्षनकुमारजी जैन, प्रेक्षा प्रषिक्षक लाजपतरायजी जैन व वरिष्ठ श्रावक मदनलालजी पालीवाल आदि विषेष रूप से उपस्थित थे।
मुनिश्री निकुंज कुमार जी ने भी उपदेष देते हुए प्रत्येक श्रावक वर्ग को आत्मचिंतन करने को कहा। इस दौरान श्रीमती सुनीता जैन (धर्मपत्नी श्री राहुल जैन) ने अठाई की तपस्या का  प्रत्याख्यान पूर्ण किया।
पर्युषण पर्व के उपक्ष में मुनिश्री किषनलाल के सान्निध्य विभिन्न कार्यक्रम
प्रेक्षाप्राध्यापक ‘षासनश्री’ मुनिश्री किषनलालजी के सान्निध्य में पर्युषण पर्व के उपलक्ष में 28 अगस्त से 1 सितम्बर, 2017 तक विभिन्न कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। इसी कड़ी में 28 अगस्त को तेरापंथ युवक परिषद द्वारा म्युजिकल चेयर। 29 अगस्त को तेरापंथ सभा द्वारा ज्ञानाषाला के बच्चों की मनामोहक प्रस्तुति। 30 अगस्त को तेरापंथ महिला मण्डल द्वारा नाटिका। 31 अगस्त को कन्या मण्डल द्वारा ऊं व स्वास्तिक घर से बनाकर लाएं और एक मिनट प्रतियोगिता। 1 सितम्बर को तेरापंथ किषोर मण्डल द्वारा क्वीज प्रतियोगिता आयोजन निर्धारित किया गया है।
- अषोक सियोल
9891752908

English by Google Translate:

Development Festival in Hansi

This festival is a festival of spiritual oversight Pattotsv the Acharyashri Mahaprajrtrji as development festival which is celebrated annually. We celebrate the festival. He is richly blessed with good appearance and dedication. It is satisfying, but this is not enough. 'Vikas Mahotsav' is time for self-determination and introspection. When we own to observe and Atmlochn we assume, Maya, greed, was so overcome greed, fear, anger. What is the state of impulse impulse? How much have we been persuaded towards salvation? Agyanuvrti the Acharyashri Mahasrmnji 'Shasnsri' Precshapradyapak Muni Kisnlalji expressed his remarks in the context of the development of the festival that we in end.and our ego, greed, fear, a sense of violence is so low and our inner harmony, ethics, Nshamukti It will be worthwhile to celebrate the 'Vikas Mahotsav' only when it happened. House Speaker on the occasion Drshnkumarji Jain, Ward Prsikshk Lajptrayji Jain and senior disciples Madanlalji Paliwal etc. Special were present.
Munishri Nikunj Kumar also said to introspect each disciples class while Updesh. During this time, Mrs. Sunita Jain (Dharmapanti Shri Rahul Jain) completed the repetition of Athayas' penance.
Munishri Kishan Lal's proximity to different programs in the subcontinent of the Purushunosh festival
In Precshapradyapak 'Shasnsri' Munishri commemorating the paryushana in the company of Kisnlalji are organizing various programs from August 28 to September 1, 2017. On August 28 in the same episode, the Musical Chair by Teestrop Youth Council. On August 29, the funniest presentation of the children of knowledge by the Thirapanth Sabha Playwright by Terapanth Mahila Mandal on August 30 Bring the bride and groom home from the house of the bride on 31st August and one minute competition. On 1 September the quiz competition was organized by the Thapanth Kishore Mandal.
- Ashok Sion
9891752908

36519676800

2017.08.30 Jeevan Vigyan Academy News 01

36108199983

2017.08.30 Jeevan Vigyan Academy News 012

36916227535

2017.08.30 Jeevan Vigyan Academy News 013

36108200843

2017.08.30 Jeevan Vigyan Academy News 014

Share this page on: