12.11.2017 ►TMC ►Terapanth Center News

Posted: 12.11.2017
Updated on: 14.11.2017

Update

ॐ अर्हम 🙏🙏

#jain #news #tmc #terapanth

#अखंड #परिव्राजक का प्रलंब विहार, पहुंचे मैग्नेस ग्लोबल स्कूल

-आझापुर हाईस्कूल से लगभग #17_किलोमीटर का आचार्यश्री ने किया प्रलंब विहार

-#शक्तिगढ़ के मैग्नेस ग्लोबल स्कूल में हुआ आचार्यश्री का पावन #पदार्पण

-#स्कूल परिसर का खुला भाग्य दूसरी पर शांतिदूत के चरणरज पाकर हुआ हर्षित

-#आचार्य_श्री_महाश्रमण जी ने श्रद्धालुओं को आत्मा के निकट रहकर स्वयं का कल्याण करने की दी पावन प्रेरणा

-#साध्वीप्रमुखा जी ने भी अपने मंगल वचनों से श्रद्धालुओं को प्रदान की पावन #प्रेरणा

-अभिभूत स्कूल प्रबन्धन व विद्यार्थियों ने अर्पित किए भावसुमन

12.11.2017 शक्तिगढ़, वर्धमान (#पश्चिम #बंगाल):- जन-जन का कल्याण करने को निकले पड़े जैन श्वेताम्बर तेरापंथ धर्मसंघ के एकादशमाधिशास्ता, भगवान महावीर के प्रतिनिधि, अहिंसा यात्रा प्रणेता आचार्यश्री महाश्रमणजी अपनी धवल सेना के साथ पश्चिम बंगाल की धरा को पावन बनाते निरंतर अग्रसर हैं।

अखंड परिव्राजक के आचार्यश्री महाश्रमणजी ने रविवार को अपनी श्वेत सेना के साथ आझापुर हाईस्कूल से प्रातः की मंगल बेला में पावन प्रस्थान किया। आज अखंड परिव्राजक का विहार पथ लगभग सतरह किलोमीटर के आसपास था। यह प्रलंब विहार श्रद्धालुओं की श्रद्धा को परिपुष्ट बनाने के लिए काफी था कि उनके आराध्य जन-जन के कल्याण के लिए कितनी बड़ी साधना कर रहे हैं। आचार्यश्री लगभग सतरह किलोमीटर का विहार कर शक्तिगढ़ क्षेत्र के मैग्नेस ग्लोबल स्कूल में पधारे। यह स्कूल भी अपने सौभाग्य पर हर्षित था, क्योंकि महातपस्वी के चरण इस परिसर में दूसरी बार पड़ रहे थे। हर्षित स्कूल प्रबन्धन संग रविवार होने के कारण कोलकाता से पहुंचे सैंकड़ों श्रद्धालुओं ने आचार्यश्री का स्वागत किया।

प्रवचन स्थल के रूप में परिवर्तित स्कूल परिसर में सर्वप्रथम महाश्रमणी साध्वीप्रमुखाजी ने लोगों को पावन प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि भारत कृषि प्रधान ही नहीं, भारत ऋषि प्रधान देश भी है। आदमी को धर्ममय जीवन जीने का प्रयास करना चाहिए। धर्म आत्मा की शुद्धि का साधन होता है। आदमी को आत्महित में बाधक प्रवृतियों से दूर रहने का प्रयास करना चाहिए।

उसके उपरान्त आचार्यश्री ने लोगों को पावन प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि जीव भिन्न और शरीर भिन्न है। आस्तिकवाद में आत्मा और शरीर को अलग-अलग माना जाता है। आदमी का मूल स्थान उसकी स्वयं की आत्मा होनी चाहिए। आदमी ईंट-पत्थर द्वारा जोड़े घर को भी अपना घर मानता है, वह भी सापेक्ष बात है, किन्तु उस घर में टूट-फूट हो सकता है, कोई लूट सकता है, छूट सकता है, किन्तु आत्मा रूपी घर स्थाई होता है। आत्मा के सिवाय सबकुछ अन्य है। इसलिए आदमी को अपनी आत्मा का ध्यान रखने का प्रयास करना चाहिए। आदमी अपनी आत्मा को अलग और शरीर को अलग रखने का प्रयास करना चाहिए। अन्यता की अनुप्रेक्षा कर आदमी अपनी आत्मा के निकट रहने का प्रयास कर सकता है। आदमी का शरीर से जितना मोह कम होगा, आत्मा रूपी सूर्य का प्रभाव बढ़ सकता है।

आचार्यश्री के आगमन से हर्षित स्कूल के विद्यार्थियों ने स्वागत गान का संगान किया। एक से छह की छात्राओं ने भाव नृत्य प्रस्तुत किया। ब्लाइंड स्कूल के छात्राओं द्वारा अणुव्रत गीत का संगान किया गया। दिव्यांग मिस्टर सुखेन दास द्वारा रविन्द्र संगीत प्रस्तुत किया। तेरापंथ युवक परिषद बेहाला द्वारा ब्लाइंड स्कूल के बच्चों के लिए म्यूजिक सिस्टम प्रदान किया गया। जैन एजुकेशन ट्रस्ट के ट्रस्टी श्रीमती प्रतिभा कोठारी, ट्रस्टी श्री मनोहर लाल राजदेव ने अपने श्रद्धासिक्त विचाराभिव्यक्ति दी। कार्यक्रम का संचालन मैग्नेस ग्लोबल स्कूल के सीईओ श्री राजेश सुराणा ने किया।

#jain #terapanth #AcharyaMahashraman #Ahimsayatra #westbengal #vihar #pravachan #news #tmc #report #share #padyatra

News in Hindi

🙏 #जय_जिनेन्द्र सा 🙏

दिनांक- 12-11-2017
तिथि: - #माघशीर्ष कृष्णा #नवमी (09)

#रविवार त्याग/#पचखाण

★आज #कोल्डड्रिंक पीने का त्याग करे।

••••••••••••••••••••••••••
जय जिनेन्द्र
#प्रतिदिन जो त्याग करवाया जाता हैं। सभी से #निवेदन है की आप स्वेच्छा से त्याग अवश्य करे। छोटे छोटे #त्याग करके भी हम मोक्ष मार्ग की #आराधना कर सकते हैं। त्याग अपने आप में आध्यात्म का मार्ग हैं।
#jain #jaindharam #terapanth
•••••••••••••••••••••••••
🙏तेरापंथ मीडिया सेंटर🙏

🔯 गुरुवर की अमृत वाणी 🔯
#AcharyaMahashraman #quotes #Tmc #Hindi #suvichar #Thoughtoftheday

Share this page on: