14.11.2017 ►TMC ►Terapanth Center News

Posted: 14.11.2017
Updated on: 15.11.2017

Update

#सद्भावना का संदेश देते #अहिंसा_यात्रा पहुंची कुलगरिया हाई #मदरसा

-वर्धमान जिले में प्रवर्धमान अहिंसा यात्रा लोगों की #अहिंसक #चेतना को कर रही है #जागृत

-लगभग #15_किलोमीटर का विहार कर कुलगरिया गांव स्थित हाई मदरसे में हुआ आचार्यश्री का पावन पदार्पण

-#मदरसा_प्रबन्धन से जुड़े लोगों ने आचार्यश्री का किया #स्वागत

-अहिंसा, नैतिकता के भाव हों जागृत तो जीवन बन सकता है अच्छा: #आचार्य_श्री_महाश्रमण

-आचार्यश्री के स्वागत में मदरसा प्रबन्धन से जुड़े #मौलाना_अबु_शाहीद ने दी #भावाभिव्यक्ति

14.11.2017 कुलगरिया, वर्धमान (पश्चिम #बंगाल):- सद्भावना, नैतिकता और नशामुक्ति रूपी तीन संकल्प रूपी आधारभूत तत्त्व के साथ अहिंसा यात्रा करने निकले जैन श्वेताम्बर तेरापंथ धर्मसंघ के एकादशमाधिशास्ता, भगवान महावीर के प्रतिनिधि, अहिंसा यात्रा के प्रणेता, शांतिदूत आचार्यश्री महाश्रमणजी पश्चिम बंगाल की राजधानी तथा की भारत के दूसरे बड़े महानगर के रूप में ख्याति प्राप्त कोलकाता के राजरहाट में वर्ष 2017 का चतुर्मासकाल सम्पन्न कर वर्ष 2018 में प्रस्तावित चेन्नई चतुर्मास के लिए गतिमान हो चुके हैं। उनके ज्योतिचरण जहां भी टिकते हैं, मानों वह स्थान इतना पावन हो जाता है कि एक तीर्थस्थल के रूप में स्थापित हो जाता है। पश्चिम बंगाल की धरा पर विहरण करती अहिंसा यात्रा अब कुछ ही समय बाद पश्चिम बंगाल की सीमा से निकल कर झारखंड की सीमा में प्रवेश करेगी।

फिलहाल वर्धमान जिले में प्रवर्धमान अहिंसा यात्रा अपने प्रणेता के साथ गतिमान है। मंगलवार को वर्धमान जिले के आलमगंज स्थित शांति राइस मिल से आचार्यश्री महाश्रमणजी ने प्रातः की मंगल बेला में आगे की ओर प्रस्थान किया। रास्ते में आने वाले गावों के लोगों को दर्शन देते और उनपर अपनी आशीषवृष्टि करते आचार्यश्री लगभग पन्द्रह किलोमीटर का विहार कर वर्धमान जिले के कुलगरिया गांव पहुंचे। गांव स्थित कुलगरिया हाई मदरसा में आज का आचार्यश्री का पावन पदार्पण हुआ। मदरसा प्रबन्धन से जुड़े मौलाना अब शाहीद सहित अन्य ग्रामीणों ने आचार्यश्री का हार्दिक स्वागत-अभिनन्दन किया। अहिंसा यात्रा सच में सद्भाव की ऐसी मसाल पेश कर रही है जो इसकी सार्थकता को साबित करती है। अहिंसा यात्रा के दौरान आचार्यश्री कभी मंदिरों में तो कभी गिरिजाघरों तो गुरुद्वारे तो कभी मदरसों में प्रवास करते हैं तो ऐसा लगता है कि आपसी सद्भावना पूरे विश्व में स्थापित हो जाए तो विश्व शांति की दिशा में बढ़े आचार्यश्री महाश्रमणजी के कदम सार्थक हो जाएं।

आचार्यश्री ने विद्यालय परिसर में बने प्रवचन पंडाल में उपस्थित लोगों को पावन प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि दुनिया में विभिन्न विषयों और रूपों में ज्ञानी लोग पुरुष मिलते हैं, किन्तु ज्ञान का सार तत्त्व अहिंसा है। हिंसा को जानकर अहिंसात्मक जीवनशैली हो जाए, तो ज्ञानी होने का बड़ा सार निकल जाता है। हिंसा आदमी को दुःखी बनाने वाली और अहिंसा लोगों को सुखी बनाने वाली होती है। आचार्यश्री ने लोगों को पांच आश्रवों से बचने और अपने जीवन को अच्छा बनाने की प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि जो व्यवहार आदमी को स्वयं के लिए उचित ना लगे, वैसा व्यवहार उसे खुद भी दूसरों के लिए उपयोग नहीं करना चाहिए। बाल दिवस के मौके पर आचार्यश्री ने बच्चों में अहिंसा, नैतिकता के भावों को परिपुष्ट बनाने की प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं और बच्चों में अच्छे संस्कार आ जाएं। बच्चे महान, विद्वान या किसी अवस्था तक भगवान बनने का प्रयास करें।

आचार्यश्री की मंगलवाणी श्रवण के उपरान्त मदरसा के प्रबन्धन से जुड़े मौलाना अबु शाहीद ने अपनी हर्षित भावाभिव्यक्ति दी। उन्हें अहिंसा यात्रा प्रबन्धन समिति की ओर से विद्यालय के उपयोगार्थ उपहार प्रदान किया। आचार्यश्री ने उन्हें अहिंसा यात्रा के तीनों उद्देश्यों की अवगति प्रदान की और नशामुक्त जीवन जीने का पावन पाथेय भी प्रदान किया।

#jain #AcharyaMahashraman #Ahimsayatra #tmc #news #report #pravachan #bengal #vihar #waytochennai

News in Hindi

🙏 #जय_जिनेन्द्र सा 🙏

दिनांक- 14-11-2017
तिथि: - #माघशीर्ष कृष्णा #ग्यारस (11)

#मंगलवार त्याग/#पचखाण

★आज #आचार खाने का त्याग करे।

••••••••••••••••••••••••••
जय जिनेन्द्र
#प्रतिदिन जो त्याग करवाया जाता हैं। सभी से #निवेदन है की आप स्वेच्छा से त्याग अवश्य करे। छोटे छोटे #त्याग करके भी हम मोक्ष मार्ग की #आराधना कर सकते हैं। त्याग अपने आप में आध्यात्म का मार्ग हैं।
#jain #jaindharam #terapanth
•••••••••••••••••••••••••
🙏तेरापंथ मीडिया सेंटर🙏

🔯 गुरुवर की अमृत वाणी 🔯
#AcharyaMahashraman #quotes #Tmc #Hindi #suvichar #Thoughtoftheday

Share this page on: