14.02.2018 ►Acharya Shiv Muni ►News

Posted: 14.02.2018

News in Hindi

ध्यानगुरू आचार्य सम्राट पूज्य श्री शिवमुनि जी म-सा- राजकीय अतिथि घोषित

सबका मंगल हो की उत्कृष्ट भावना के साथ आत्म ध्यान साधना में रत आचार्य भगवन् प्रति रविवार श्रद्धालुजनों को मंगल पाठ सुनाते हैं। महामंत्र की मंगलमय ध्वनि और प्रार्थना के मंगलमय भावों में दिनांक 11 फरवरी 2018 की प्रवचन सभा का आगाज हुआ। उपप्रवर्तिनी महासाध्वी श्री रवि रश्मि जी म-सा- ने भी अपने उद्गार रखते हुए कहा कि आचार्य भगवन् का जीवन स्फटिक मणि सा निर्मल हैं। और उनकी ध्यान साधना, तप साधना इस युग की अनुठी देन हैं।
उदयपुर श्री संघ के महामंत्री श्री हिम्मतसिंह गलुण्डिया जी ने आगे की सभा का संचालन सभा करते हुए माननीय गृहमंत्री श्री गुलाब चंद जी कटारिया एवं उदयपुर तेरापंथ समाज का भाव भरा अभिनंदन किया गया।
तेरापंथी सभा के अध्यक्ष श्री सुर्यप्रकाश जी मेहता ने श्री संघ का विनंती पत्र पढ़ते हुए कहा कि हमें बड़ी खुशी है कि आचार्य श्री शिवमुनि जी म-सा- का चातुर्मास उदयपुर में होने जा रहा हैं। सम्पूर्ण तेरापंथ समाज गौरव का अनुभव कर रहा है कि जिस भूमि पर तेरापंथ के दशम् आचार्य श्री महाप्रज्ञ और तत्कालीन युवाचार्य श्री महाश्रमण जी का चातुर्मास हुआ था उसी भूमि पर महाप्रज्ञ विहार स्थित भवन प्रज्ञा शिखर एवं महिला अहिंसा प्रशिक्षण केन्द्र में आप अपना चातुर्मास प्रदान करके हमें कृतार्थ करें।
माननीय गृहमंत्री श्री गुलाब चंद जी कटारिया जी ने कहा कि आचार्य श्री जी का उदयपुर चातुर्मास हमारे भाग्य का उदय हैं यह चातुर्मास उदयपुर के इतिहास में स्वर्णिम पृष्ट जोड़ने जा रहा हैं। विगत कई वर्षो की भावना फलीभूत होने जा रही हैं। आने वाले नवम्बर माह तक आप राजस्थान सरकार के राजकीय अतिथि के रूप में रहेगें। हमारी मुख्यमंत्री श्रीमती वसुंधरा राजे ने यह आदेश जारी किया हैं। तथा मैंने भी सभी ऑफिसर को इस आदेश का पालन करने के लिए प्रतिबद्ध किया हैं।
श्रमण संघीय प्रमुख मंत्री श्री शिरीष मुनि जी म-सा ने भी सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि उदयपुर श्री संघ की 18 वर्षों की प्रबल भावना को देखते हुए आचार्य श्री जी ने चातुर्मास प्रदान किया हैं। यह चातुर्मास तेरापंथ भवन में समन्वय व एकता का प्रतीक होगा।
युवामनीषी श्री शुभम मुनि जी म-सा- ने अपने द्वारा रचित आचार्य श्री शिवमुनि जी म-सा- एवं तेरापंथ संघ के अनुशास्ताओं से मिलन पर बनाया हुआ मधुर भजन गाकर सभा को मंत्रमुग्ध किया।
आचार्य भगवन् ने सभा को सम्बोधित करते हुए फरमाया उदयपुर श्री संघ की लम्बी विनंति को ध्यान रखते हुए 2018 का चातुर्मास दिया गया। स्थान के लिए श्री संघ ने बहुत जगह देखने के बाद महाप्रज्ञ विहार का चयन किया। यह चातुर्मास महाप्रज्ञ विहार स्थित प्रज्ञा भवन और देवेन्द्र धाम के तत्वावधान में होगा। तेरापंथ समाज ने स्थान देकर एकता का एक और उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया हैं। समस्त तेरापंथ समाज को साधुवाद देता हूँ।
इस अवसर पर उदयपुर चातुर्मास 2018 के लोगो ‘संकल्प से सिद्धि’ का लोकार्पण गृहमंत्री श्री गुलाबचंद जी कटारिया, श्री अशोक जी मेहता, श्री औंकार सिंह सिरोया, श्री विरेन्द्र डांगी, तेरापंथ सभा के अध्यक्ष श्री सुर्यप्रकाश जी मेहता, श्री राजकुमार जी फत्तावत एवं उदयपुर श्री संघ के सदस्यगणों ने मिलकर किया।
प्रवचन सभा में महासाध्वी श्री मणिप्रभा जी म-सा- आदि ठाणा भी विराजमान थी। उदयपुर, चित्तौड़गढ़, इंदौर, भीलवाड़ा, फतेहनगर आदि शहरों से भी काफी संख्या में भक्तगण पधारें थें।
प्रवचन सभा को श्री संघ के अध्यक्ष श्री औंकार सिंह सिरोया, चातुर्मास संयोजक श्री विरेन्द्र डांगी ने भी सम्बोधित किया। मंच का संचालन श्रीमान हिम्मतसिंह जी गलुण्डिया ने किया।

उदयपुर चातुर्मास 2018 के लोगो ‘संकल्प से सिद्धि’ का लोकार्पण गृहमंत्री श्री गुलाबचंद जी कटारिया, श्री अशोक जी मेहता, श्री औंकार सिंह सिरोया, श्री विरेन्द्र डांगी, तेरापंथ सभा के अध्यक्ष श्री सुर्यप्रकाश जी मेहता, श्री राजकुमार जी फत्तावत एवं उदयपुर श्री संघ के सदस्यगणों ने मिलकर किया।

उदयपुर चातुर्मास 2018 के लोगो ‘संकल्प से सिद्धि’ का लोकार्पण गृहमंत्री श्री गुलाबचंद जी कटारिया, श्री अशोक जी मेहता, श्री औंकार सिंह सिरोया, श्री विरेन्द्र डांगी, तेरापंथ सभा के अध्यक्ष श्री सुर्यप्रकाश जी मेहता, श्री राजकुमार जी फत्तावत एवं उदयपुर श्री संघ के सदस्यगणों ने मिलकर किया।

आचार्य सम्राट पूज्य श्री शिवमुनि जी म-सा- राजकीय अतिथि घोषित

Share this page on: