08.06.2012 ►Farara ►Acharya Tulsi Protected Human Values► Muni Jatan Kumar

Published: 08.06.2012
Updated: 21.07.2015

ShortNews in English

Farara: 08.06.2012

Muni Jatan Kumar and Muni Anand Kumar paid homage to Acharya Tulsi. Muni Jatan Kumar told that Acharya Tulsi stood for human values. His wisdom was extra ordinary.

News in Hindi

मानवीय मूल्यों के सजग प्रहरी थे आचार्य तुलसी - मुनि जतन कुमार
संत-श्रावकों ने महा प्रयाण दिवस मनाया

नाथद्वारा/आमेट ०८ जून २०१२ जैन तेरापंथ न्यूज ब्योरो

मुनि जतन कुमार ने कहा कि आचार्य तुलसी मानवीय मूल्यों के सजग प्रहरी थे। वे विलक्षण प्रतिभा के धनी होने के साथ ही तेरापंथ के वटवृक्ष तथा कल्पवृक्ष थे। मुनि जतन कुमार गुरुवार को नाथद्वारा के समीपवर्ती फरारा गांव में आयोजित महाप्रयाण दिवस पर प्रवचन दे रहे थे।

इस अवसर पर गांव के नानालाल मेहता एवं भाग्यवती मेहता ने शीलव्रत स्वीकार कर गुरु चरणों में श्रद्धा भेंट की। वक्ताओं ने आचार्य तुलसी के जीवन चरित्र, कार्य वृत्तांत पर प्रकाश डाला। श्री जैन श्वेताम्बर तेरापंथी सभा फरारा की ओर से आयोजित कार्यक्रम में स्वागत भाषण तथा आचार्य तुलसी का जीवन परिचय सभा की ओर से शांतिलाल मेहता ने दिया। संचालन मुनि आनंद कुमार कालू ने किया। मंगलाचरण किरण मेहताव अनिता मेहता ने तथा आभार शांतिलाल लोढा ने किया। मोतीलाल लोढा, मोहनी देवी भण्डारी, दिलखुश भण्डारी, मांगीलाल भण्डारी, शांतिलाल लोढा ने गीतिका तथा मुक्तक की प्रस्तुति दी। मुख्य अतिथि तेरापंथ मेवाड कॉन्फ्रेस के पूर्व संगठन मंत्री रोशन लाल गौखरू थे। अध्यक्षता सोहनलाल दुग्गड़ ने की। नानालाल मेहता, शांतिलाल मेहता, रंगलाल मेहता, पूनम चन्द्र लोढा, भरत लोढा, सम्पत लाल लोढा, गणपत लाल कच्छारा, श्रीमती झमकु देवी मेहता, निर्मला मेहता, पूनम देवी लोढा, कांता कच्छारा सहित कई श्रद्धालु उपस्थित थे।

Sources

Jain Terapnth News

ShortNews in English:
Sushil Bafana

Share this page on:
Page glossary
Some texts contain  footnotes  and  glossary  entries. To distinguish between them, the links have different colors.
  1. Acharya
  2. Acharya Tulsi
  3. Anand
  4. Jain Terapnth News
  5. Muni
  6. Muni Anand Kumar
  7. Muni Jatan Kumar
  8. Sushil Bafana
  9. Tulsi
  10. आचार्य
  11. आचार्य तुलसी
Page statistics
This page has been viewed 864 times.
© 1997-2020 HereNow4U, Version 4
Home
About
Contact us
Disclaimer
Social Networking

Today's Counter: