13.11.2017 ►TMC ►Terapanth Center News

Posted: 13.11.2017
Updated on: 15.11.2017

Update

Video

📣 #अहिंसा_यात्रा:-

शांतिदूत #आचार्य_श्री_महाश्रमण जी शक्तिगढ़ से विहार करके आलमगंज पधारे। गुरुवर के पावन सान्निध्य से आज के विहार की मनोरम #झलकियां एवं आचार्यवर का प्रेरणा पाथेय।

13.11.2017
प्रस्तुति > #तेरापंथ मीडिया सेंटर
#Jain #Terapanth #AcharyaMahashraman #AhimsaYatra #Tmc #News #Samachar #Westbengal #Bengal #kolkata #Chaturmas2017 #कोलकाता_चातुर्मास #Program #Calcutta #Kolkatacity #chaturmas #Vihar #amritvani

Video

*महिलाएं गलतियों का परिष्कार करने के लिए तैयार रहे - साध्वीप्रमुखा कनकप्रभा जी*

वक्तव्य सुनने के लिए लिंक पर क्लिक करें ।

https://youtu.be/MkjMXQELBqc

धर्म संघ के विडियो देखने के लिए आप चैनल को सब्सक्राइब करें और दोस्तों एवं रिश्तेदारों को सब्सक्राइब करने के लिए प्रेरित करें। धन्यवाद।

Please share with all the groups nd contacts

Update

#शांति राइस मिल से #शांतिदूत ने दिया शांति का #संदेश

-#प्रवर्धमान #अहिंसा_यात्रा शक्तिगढ़ से आगे बढ़ती अहिंसा यात्रा पहुंची #आलमगंज

-लगभग #12_किलोमीटर का विहार कर आचार्यश्री पहुंचे शांति राइस मिल

-मिल मालिक सहित कर्मचारियों ने आचार्यश्री का किया हार्दिक अभिनन्दन

-महावीर के प्रतिनिधि #आचार्य_श्री_महाश्रमण जी ने भगवान महावीर के दीक्षा दिवस पर दिया पावन संबोध

-श्री दिलीप अग्रवाल सहित सहित परिजनों ने व्यक्त की #हर्षाभिव्यक्ति, वर्धमान कन्या मंडल ने दी भावपूर्ण प्रस्तुति

-आचार्यश्री की पावन #प्रेरणा से #अग्रवाल परिवार के लोगों ने स्वीकार की अहिंसा यात्रा की #संकल्पत्रयी

13.11.2017 आलमगंज, वर्धमान (पश्चिम #बंगाल):- वर्धमान जिले में भगवान वर्धमान (महावीर) के प्रतिनिधि, जैन श्वेताम्बर तेरापंथ धर्मसंघ के ग्यारहवें देदीप्यमान महासूर्य, शांतिदूत, अहिंसा यात्रा के प्रणेता आचार्यश्री महाश्रमणजी अपनी अहिंसा यात्रा के गतिमान हैं और भगवान महावीर के संदेशों को जन-जन तक पहुंचा रहे हैं। अब तक लाखों लोगों को अपनी प्रेरणा से नशामुक्ति का संकल्प स्वीकार करा चुके महातपस्वी आचार्यश्री महाश्रमणजी के पावन रज से वर्धमान जिला का कण-कण मानों पावन हो रहा है।

सोमवार की प्रातः आचार्यश्री महाश्रमणजी ने भगवान महावीर के वर्धमान नामक जिले में अहिंसा यात्रा के साथ शक्तिगढ़ क्षेत्र के मैग्नेस ग्लोबल स्कूल से प्रवर्धमान हुए। भारत में आरम्भ हो चुके शरद ऋतु के कारण सूर्योदय से ही आरम्भ होने वाली किरणों की तीव्रता मंद हो चली है। ऐसे में विहार का प्रारम्भ काफी सुहावना लग रहा है। आचार्यश्री जब विद्यालय परिसर ने निकले तो सूर्य भी आकाश में गतिमान हो चुका था। आचार्यश्री ने लगभग बारह किलोमीटर का विहार कर वर्धमान जिले के आलमगंज पहुंचे। आचार्यश्री के चरणरज को प्राप्त कर मानों आलमगंज पावन हो गया। आचार्यश्री वहां श्री दिलीप अग्रवाल परिवार के शांति राइस मिल में पधारे। अग्रवाल परिवार सहित अन्य संबंधीजनों तथा कर्मचारियों ने आचार्यश्री व संपूर्ण धवल सेना का स्वागत-अभिनन्दन किया।

परिसर में ही बने प्रवचन पंडाल से सर्वप्रथम साध्वीप्रमुखाजी ने पावन संबोध प्रदान किया। साध्वी पुश्यप्रभाजी ने गीत का संगान किया। उसके उपरान्त मंगल प्रवचन में पधारे आचार्यश्री महाश्रमणजी ने शांति राइस मिल से लोगों को शांति का संदेश देते हुए कहा कि आज मृगशिर कृष्णा दसमी का दिन है। आज के ही दिन भगवान महावीर ने लगभग तीस वर्ष की आयु में दीक्षा स्वीकार की थी। माता के गर्भ में साधुत्व स्वीकार करने का संकल्प कर चुके भगवान महावीर ने अपने माता-पिता के जीवित रहते हुए दीक्षा ग्रहण नहीं की। इस बीच उनकी प्राणीग्रहण संस्कार हुआ और संतान भी हुई, किन्तु मन में जागृत वैराग्य भाव के कारण उन्होंने श्रमणत्व को स्वीकार किया किया वर्धमान से भगवान महावीर बन गए। उनका लगभग साढ़े बारह वर्ष की कठोर साधना का काल रहा। भगवान महावीर का कुल आयुष्य लगभग 72 वर्षों का रहा।

आचार्यश्री ने आज के ही दिन चार वर्ष पूर्व एक साथ होने वाली 43 दीक्षाओं के संदर्भ में कहा कि एक साथ 43 व्यक्तियों का साधुत्व के पथ पर अग्रसर होना भी अपने आप में बड़ी बात होती है। मेरे द्वारा उन्हें सम्यक्त्व प्रदान किया। आचार्यश्री ने पावन प्रेरणा प्रदान करते हुए कहा कि लोगों वैर भाव का परित्याग कर मैत्री भाव रखने का प्रयास करना चाहिए। हिंसा से दुःख और मैत्री भाव से आनंद की प्राप्ति होती है। आचार्यश्री ने उद्योग जगत में मालिक-मजदूर दोनों में नैतिकता रखने की पावन प्रेरणा प्रदान की। अंत में आचार्यश्री की पावन प्रेरणा से अग्रवाल परिवार के लोगों ने अहिंसा यात्रा के तीनों संकल्पों को स्वीकार किया।

आचार्यश्री के आगमन से हर्षित शांति राईस मिल के मालिक श्री दिलीप अग्रवाल परिवार की ओर से श्री दिलीप अग्रवाल ने भी अपनी भावाभिव्यक्ति दी। अग्रवाल परिवार की महिलाओं ने गीत का संगान किया। श्री सुरेश गोयल ने अपनी भावाभिव्यक्ति दी। सुश्री गीतिका ने गीत का संगान किया। वहीं वर्धमान कन्यामंडल ने भी गीत के माध्यम से अपने आराध्य के चरणों में अपने भावसुमन अर्पित किए।

प्रेषक > #तेरापंथ मीडिया सेंटर
#jain #terapanth #tmc #AcharyaMahashraman #ahimsayatra #vihar #pravachan #news #report

News in Hindi

🙏 #जय_जिनेन्द्र सा 🙏

दिनांक- 13-11-2017
तिथि: - #माघशीर्ष कृष्णा #दसमी (10)

#सोमवार त्याग/#पचखाण

★आज #अन्नानास खाने का त्याग करे।

••••••••••••••••••••••••••
जय जिनेन्द्र
#प्रतिदिन जो त्याग करवाया जाता हैं। सभी से #निवेदन है की आप स्वेच्छा से त्याग अवश्य करे। छोटे छोटे #त्याग करके भी हम मोक्ष मार्ग की #आराधना कर सकते हैं। त्याग अपने आप में आध्यात्म का मार्ग हैं।
#jain #jaindharam #terapanth
•••••••••••••••••••••••••
🙏तेरापंथ मीडिया सेंटर🙏

🔯 गुरुवर की अमृत वाणी 🔯
#AcharyaMahashraman #quotes #Tmc #Hindi #suvichar #Thoughtoftheday

Share this page on: