01.06.2018 ►STGJG Udaipur ►News

Posted: 01.06.2018

News in Hindi

29 जून को होगा #उदयपुर शहर प्रवेश-
21 जुलाई को चातुर्मास हेतु माहप्रज्ञ विहार में प्रवेश करेंगे।
उदयपुर- 1/6/2018।
श्री वर्द्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के अध्यक्ष ओंकारसिंह सिरोया की अध्यक्षता में आज कुम्हारवाड़ा स्थित स्थानक पर हुई बैठक में आचार्यश्री के चातुर्मास संबंधी व्यवस्थाओं पर विस्तृत विचारविमर्श किया गया। सिरोया ने बताया कि 29 जून को आचार्यश्री शिवमुनि,युवाचार्य महेन्द्र ऋषि आदि ठाणा-10 ससंघ का शहर प्रवेश दुधियागणेश जी स्थित स्थानक से होगा।
पुष्करवाणी ग्रूप ने बताया कि चातुर्मास संयोजक वीरेन्द्र डांगी ने बताया कि बैठक में श्राविका संघ व युवक परिषद के पदाधिकारियों ने भी भाग लिया। 29 जून से आचार्यश्री के शहर प्रवेश के साथ ही 21 दिन आचार्यश्री एवं ससंघ शहर के विभिन्नड स्थानों पर विहार कर 21 जुलाई को चातुर्मास हेतु माहप्रज्ञ विहार में प्रवेश करेंगे।
उन्होंने बताया कि बैठक में चातुर्मास के आयोजन संबंधी गठित विभिन्न समितियों द्वारा अब तक किये गये कार्यो की समीक्षा कर उनकी सराहना की सराहना की गई। चातुर्मास संयोजक विरेन्द्र डंागी ने बताया कि आगामी 21 जुलाई को श्रमणसंघीय आचार्य शिवमुनि,युवाचार्य महेन्द्र ऋषि आदि ठाणा-10 संसघ का भुवाणा स्थित महाप्रज्ञ विहार में भव्य प्रवेश होगा।

जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग प्रदर्शन को यूजीसी ने लिया अपनी वेबसाईट पर
जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग प्रदर्शन को यूजीसी ने लिया अपनी वेबसाईट पर
लाडनूँ, 31 मई 2018। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने अपनी वेब साईट के होम पेज पर जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योग एवं जीवन विज्ञान विभाग के विद्यार्थियों द्वारा करवाये गये योगाभ्यास को महत्व दिया है। यूजीसी ने अपनी वेब साईट डब्लूडब्लूडब्लू डाॅट यूजीसी डाॅट के होमपेज पर दी गई स्लाइड में इस संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) के योगाभ्यास के योग-प्रदर्शन का फोटो अपलोड किया है। यह इस संस्थान के लिये गौरव समझा जा रहा है कि यूजीसी ने इसे इतना महत्व प्रदान किया है। जैन विश्वभारती संस्थान (मान्य विश्वविद्यालय) में शिक्षित-प्रशिक्षित विद्यार्थी देश-विदेश में योग और धर्म व दर्शन का प्रचार-प्रसार कर रहे हैं तथा विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में उच्च पदों पर योग-शिक्षा प्रदान कर रहे हैं, जिनमें पुलिस व सेना भी शामिल है। गौरतलब है कि जैन विश्वभारती संस्थान देश की संस्कृति, प्राच्य विद्याओं, धर्म व दर्शन, प्राच्य भाषा, योग व जीवन विज्ञान, अहिंसा एवं शाति आदि के अध्ययन व शोध लिये समर्पित मिशन के रूप में संचालित किया जा रहा है। राजस्थान पुलिस के पूर्व महानिदेशक डाॅ. मनोज भट्ट ने भी योग को अपना विषय चुनते हुये यहां से अपनी शोध सम्पन्न करके पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है।

हौसले के आगे धुंधली पड़ गई आंखें,
बचपन से नेत्रहीन छात्रा ने किया बोर्ड में टॉप
दमोह। 1/6/2018
जन्म से दृष्टिबाधित है सृष्टि। लेकिन है दुनिया जीतने की क्षमता। दमोह की 12वीं कक्षा की छात्रा सृष्टि तिवारी ने कला समूह में 500 में से 481 अंक हासिल कर प्रदेश की मैरिट में पहला स्थान पाया है। हाई स्कूल परीक्षा 2011 में भी सृष्टि ने दृष्टिबाधित संवर्ग में मैरिट में स्थान बनाया था। उसने बताया- उसे पेपर हल करने के लिए राइटर मिला था। सृष्टि की मां सुनीता और पिता सुनील तिवारी भोपाल में रहते हैं। नाना वीरेंद्र गंगेले, नानी पुष्पा गंगेले और मामा डॉ. संजय गंगेले ने सृष्टि की पढ़ाई में मदद की। मामा ने नोट्स बनाकर दिए, नाना-नानी ने पढ़कर सुनाया, जिन्हें याद कर उसने परीक्षा की तैयारी की।
एमपी बोर्ड की मैरिट में आर्ट्स ग्रुप से पहला स्थान हासिल करने वाली कक्षा 12वीं की द्रष्टिवाधित छात्रा श्रृष्टि तिवारी ने यह मुकाम मजबूत इरादों, द्रढ़ इच्छाशक्ति और कठिन मेहनत के बूते पर पाई है। लोगों को घोर आश्चर्य में डालने वाली श्रृष्टि की इस सफलता के पीछे एक बड़े संघर्ष छिपा है, जिसका सामना उसने बेहद आत्मविश्वास के साथ करते हुए प्रदेश में एक नया इतिहास रच दिया।
शहर के जेपीबी गर्ल्स स्कूल की छात्रा श्रृष्टि के पिता सुनील तिवारी उद्योग विभाग भोपाल में कार्यरत है। श्रृष्टि को जन्म से कुदरत ने शारीरिक रूप से उसे सामान्य बच्चों से भले ही अलग बनाया, लेकिन उसमें कूट-कूटकर भरे आत्म विश्वास ने उसे विशेष बना दिया। पांच साल की उम्र तक श्रृष्टि अपने माता-पिता के साथ रही, लेकिन कक्षा तीसरी से उसका एडमीशन दमोह में उनके नाना-नानी और मामा ने दमोह में करा दिया। तब से वह उन्हीं की देखरेख में पली-बढ़ी है।

मेरे पुष्कर गुरुवर...
तेरी हर एक याद दिल में सजा रखी है...
तेरी हर एक बात दिल में बसा रखी है...
न चल पायेगी तेरे बगैर ये कश्ती हमारी...
इसीलिए गुरु पुष्कर...
इसकी पतवार तुझको पकड़ा रखी है...!!
@kp@
*🙌अपना तो है ही गुरु पुष्कर🙌

जबाने काट ली गई अंग्रेजी खंजर से,
कानो में️ जिनवाणी का रस कौन घोलेगा..❓❓

नई पीढ़ी के बच्चो को सैमसंग गैलेक्सी से फुरसत नही,
भविष्य में️ इन आगमों और ग्रन्थों को कौन खोलेगा...❓❓*

Share this page on: