08.06.2016 ►TSS ►Terapanth Sangh Samvad News

Posted: 08.06.2016
Updated on: 09.01.2018

Update

09 जून का संकल्प

व्यक्ति विशेष नहीं गुणों की स्तुति है नमस्कार महामंत्र ।
जप से इसके पराजित हो जाते सब विघ्न - बाधा तंत् ।।

📝 धर्म संघ की तटस्थ एवं सटीक जानकारी आप तक पहुंचाए
🌻"तेरापंथ संघ संवाद"🌻

👉 मामण्डुर (चैन्न्ई) - अणुव्रत समिति द्वारा कार्यशाला का आयोजन
प्रस्तुति: 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

👉 गदग - स्वच्छ भारत अभियान के तहत कार्यक्रम
प्रस्तुति: 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

Update

Video link:
दिनांक 08-06-2016 के विहार और पूज्य प्रवर के प्रवचन का विडियो

प्रस्तुति - अमृतवाणी

सम्प्रेषण -👇

 

📝 धर्म संघ की तटस्थ एवं सटीक जानकारी आप तक पहुंचाए

🌻"तेरापंथ संघ संवाद"🌻

Update

💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕
आचार्य तुलसी की कृति....."श्रावक संबोध"

गतांक से आगे......

📝 श्रृंखला-33 📝

कुछ दार्शनिक लोक को एकांततः नित्य, शाश्वत, अविनाशी, और अनन्त मानते हैं। जैन दर्शन के अनुसार वह एकांततः नित्य, शाश्वत, अविनाशी और अनन्त नहीं है। भगवान महावीर ने द्रव्यार्थिक नय की दृष्टि से लोक को नित्य, शाश्वत और अविनाशी बताया है तथा पर्यायार्थिक नय की दृष्टि से अनित्य, आशाश्वत और विनाशी कहा है। द्रव्य और क्षेत्र की अपेक्षा लोक सान्त है। काल तथा भाव की दृष्टि से वह अनन्त है।

भगवान महावीर ने लोक के स्वरूप को अनेक दृष्टियों से निरूपित किया।
एक दृष्टि से जीव और अजीव लोक है।
दूसरी दृष्टि से पांच अस्तिकाय लोक है।
तीसरी दृष्टि से छः द्रव्य लोक है।
इस विवेचन के आधार पर लोक की तीन परिभाषाएं बन जाती हैं -
जहाँ जीव और अजीव हों, वह लोक है।
जहाँ पाँच अस्तिकाय हों, वह लोक है।
जहाँ छः द्रव्य हों, वह लोक है।

लोक वास्तव में एक ही है। उसके ये तीन रूप विविक्षा के आधार पर बनते हैं। भगवान महावीर ने मूलतः पाँच अस्तिकाय का प्रतिपादन किया। दार्शनिक युग में उनके साथ काल और जुड़ गया। इन सबको द्रव्य मानने की परम्परा भी उत्तरकालीन है।

लोक के बारे में अन्य दार्शनिकों ने भी विचार किया है, पर अलोक का सिद्धांत जैन धर्म की मौलिक स्थापना है। इसके बारे में अन्यत्र चर्चा उपलब्ध नहीं है। जैन दर्शन के अनुसार धर्मास्तिकाय, अधर्मास्तिकाय, की सीमा तक लोक है। जहाँ केवल आकाश है, वह अलोक है। अलोकाकाश अनन्त है।

क्रमशः....... कल

प्रस्तुति - 🌻 *तेरापंथ संघ संवाद* 🌻
💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕💢⭕

Update

👉 जोधपुर - केंद्रीय मंत्री श्री भगत का MBDD को समर्थन
प्रस्तुति - 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

👉 नोखा - 'आगममंथन-8' के प्रतिभागियों का सम्मान
प्रस्तुति - 🌻तेरापंथ संघ संवाद🌻

👉 'खखटी' से पूज्यवर के आज के मुख्य प्रवचन के दृश्य

दिनांक:- 08-06-2016

📝 धर्म संघ की तटस्थ एवं सटीक जानकारी आप तक पहुंचाए
🌻"तेरापंथ संघ संवाद"🌻

News in Hindi

👉 सद्भावना, नैतिकता व नशामुक्ति का संदेश देती "अहिंसा यात्रा" का आज का प्रवास *खखटी*
👉 आज के विहार के दृश्य

दिनांक:- 08-06-2016

📝 धर्म संघ की तटस्थ एवं सटीक जानकारी आप तक पहुंचाए
🌻"तेरापंथ संघ संवाद"🌻

Share this page on: